The Marker Post

अपने कुत्ते की मौत से दुखी युवक ने की आत्महत्या

इंसान और जानवर का रिश्ता कितना भावुक हो सकता है, इसका सहीसही अंदाजा शायद वही लगा सकते हैं जो कि खुद जानवरों से बेहद प्यार करते हों। पुणे में एक ऐसी घटना सामने आई है जहां अपने कुत्ते की मौत से दुखी एक युवक ने आत्महत्या का रास्ता चुना। युवक अपने पीछे एक सूइसाइड नोट भी छोड़कर गया है, जिसमें उसने लिखा है कि कुत्ते की मौत से वह इतना दुखी है कि उसे आत्महत्या के सिवा कोई और रास्ता नजर नहीं रहा। 22 साल का कंवर हर्षवर्धन राघव मैनेजमेंट का छात्र था। सोमवार रात कथित तौर पर उसने 6ठी मंजिल पर स्थित अपने एक रिश्तेदार के घर से नीचे कूदकर आत्महत्या कर ली। घटना पुणे के हड़पसर की है। पुलिस के मुताबिक, 8 महीने पहले राघव के कुत्ते सिस्का की मौत हो गई थी। सिस्का की मौत से राघव बेहद उदास था। बताया जा रहा है कि उसकी खुदकुशी के पीछे भी यही कारण है।

msid-56470884width-400resizemode-4student-commits-suicide

राघव मूल रूप से छत्तीसगढ़ के रायपुर का रहने वाला है। राघव ने एक चिट्ठी भी छोड़ी है। इस चिट्ठी में उसने लिखा है कि सिस्का की मौत से वह बहुत दुखी था। राघव खाड़की की एक यूनिवर्सिटी में MBA प्रथम वर्ष का छात्र था। वह कॉलेज के हॉस्टल में रहता था। राघव के पिता सैन्य अधिकारी हैं। उसकी बहन आर्म्ड फोर्सेस मेडिकल कॉलेज में डॉक्टर है। उसके दादा और नाना और कई अन्य रिश्तेदार सेना में वरिष्ठ अधिकारी रहे हैं। हड़पसर पुलिस थाने के वरिष्ठ इंस्पेक्टर विष्णु पवार के मुताबिक, राघव ने गोंधालेनगर स्थित आर्मी वेलफेअर हाउजिंग ऑर्गनाइज़ेशन में रात करीब 8.30 बजे एक इमारत से नीचे कूदकर आत्महत्या कर ली। पुलिस के मुताबिक, राघव पढ़ने में बहुत अच्छा था।

आसपास रहने वाले लोग राघव को नजदीकी अस्पताल में ले गए, जहां डॉक्टर्स ने उसे मृत घोषित कर दिया। अपने सूइसाइड नोट में राघव ने लिखा है कि किसी को भी उसकी मौत का जिम्मेदार माना जाए। उसने अपने मातापिता से माफी मांगते हुए लिखा है कि कुत्ते की मौत से वह बहुत दुखी है और उसके पास अपनी जिंदगी खत्म करने के अलावा दूसरा कोई रास्ता नहीं है। राघव ने लिखा है कि वह सिस्का से इस तरह हमेशा के लिए बिछड़ जाने के दर्द को सहन नहीं कर पा रहा है। राघव के दोस्तों ने बताया कि करीब 8 महीने पहले सिस्का की मौत हो गई थी। हड़सपर पुलिस ने राघव के मातापिता का बयान भी दर्ज कर लिया है। सूइसाइड नोट मिलने के बाद उन्होंने राघव की मौत के लिए किसी को भी दोषी नहीं ठहराया। मंगलवार दोपहर को गोलीबार मैदान में राघव का अंतिम संस्कार कर दिया गया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *